जब DOCTOR ही बन जाए कसाई!

0
50

आज हर साल जितनी deaths doctors के हाथों हो रही हैं मुझे नहीं लगता की इतनी deaths कभी enemy  nation  के soldiers  द्वारा हुईं हो। आज कल के doctors  ईलाज के नाम पर patients  को लूटने में लगे हुए हैं। It  is  a  matter  of   serious  concern  कि एक doctor  जिसका पेशा patient  को बचाने का है वह आज लालच में आ कर किसी भी हद तक जा सकता है।  Doctor  का profession  एक बहुत ही respectable, honorable and  trustworthy  profession  है पर पैसा और शोहरत कमाने के चक्कर में सफ़ेद कोट में भी आज कालिख लग चुकी है। Doctor  अब doctor  नहीं रहा वह तो अब उस कसाई की तरह काम कर रहा है जो जानवर को मारते समय जरा सभी रहम नहीं खाता।

बड़ी हैरानी कि बात है कि India  अपने citizens  की security  and  protection   के लिए हर साल army  के जवानों पर बहुत सारा पैसा खर्च करता है और न जाने कैसी कैसी top  class  facilities  soldiers  या officers  को दे रहा है पर क्या कभी हमने सोचा कि external  enemies  के attack  से  जितने Indians  हर साल मारे जाते हैं वो as  compared  to  those  who  got  killed  by  mistreatment and delayed  treatment of  doctors  बहुत हैं!  Enemy nation  के fear  से तो हमने अपनी army  को तो strong कर दिया पर वह doctor जो आज हमारा lethal  internal  enemy  बन कर बैठा है और हर दिन न जाने कितनी मासूम  जानें ले रहा है उस से हमें कौन बचाएगा?  क्या कभी हमने इस बात पर ध्यान दिया?  क्या कभी हमने इस बात पर बैठ कर गौर किया कि आखिर क्यों हमारे doctors  अपने महान पेशे के साथ धोखा कर रहे हैं? आखिर क्या वजह है कि patient को जल्दी ठीक कर के घर भेजने के बजाये वह उसे unnecessarily  hospital  में admit  किया रखते हैं?  ताकि वह उसका ठीक ठाक बिल बना सकें?  हद तो तब  हो जाती है  जब यही doctors  dead  patient  को ventilator  में लिटा कर लम्बा चौड़ा bill  बना देते हैं! Pharmaceutical  companies  के साथ तो इनका already  set  up  है।  वही medicines  ये patients  को prescribe  करेंगे जिनमें इनको profit  मिलता है।  एक  patient जो  blind trust लेकर  doctor के  पास  आता  है  क्या  उस  doctor का  फ़र्ज़  नहीं  बनता  की  वह  उसका  sincere और  dedicated होकर  ईलाज  करे?

Indian  government  को चाहिए है कि वह जल्दी से जल्दी इस मुद्दे पर ध्यान दे नहीं तो ऐसा दिन भी आने वाला है when  to  kill  us,  enemy  nation  will  not  require  their  soldiers  and  lethal  weapons  as  our  doctors  can  easily kill  us  and  that  too  in a  fully  legal  manner।   कहते हैं कि किसी की जान बचाना एक महान काम है पर जहां तो किसी कि जान लेना महान काम बन गया है। जो जितनी जानें लेगा वह उतना ही पैसा कमाएगा। शर्म आनी चाहिए ऐसे immoral  and  wicked  doctors  को जिनके अंदर patients के लिए दर्द और संवेदना बिलकुल समाप्त हो चुकी है।

हमारी सरकार को जल्दी से जल्दी कुछ अहम् फैसला लेना पड़ेगा ताकि वह इन internal  enemies  से अपने देशवासिओं को बचा सके।  Healthcare  system  को ठीक करने के लिए सरकार को जल्दी से जल्दी सख्त कदम उठाने चाहियें और इन criminal, faked और unethical doctors  पर सख्त से सख्त कार्यवाही  करनी चाहिए। क्या ऐसा नहीं हो सकता की जिस योश और उत्साह से हम अपने soldiers  को खड़ा करते हैं क्यों न ऐसे ही हम अपने doctors  को खड़ा करें ताकि उनके अंदर भी patriotic  feelings  आ सकें और वे भी सच्ची श्रद्धा और सेवा भावना से अपने देश को बिमारी रुपी दुश्मनों से बचा सकें। अगर देखा जाए तो healthy  India  ही progressive  and  happy  India  है।  बाहरी दुश्मन से तो हमारे सिपाही आज नहीं तो कल लड़ ही लेंगे पर जो दुश्मन घर में सांप की तरह चौकड़ी मार कर बैठा  है उससे हमें कौन बचाएगा?

Leave a Reply